कलयुग से सत्युग YouTube Channel Analytics and Report

कलयुग से सत्युग YouTube Stats & Analytics Dashboard
(Data Updated on 2019-09-17)
कलयुग से सत्युग
Joined YouTube on: 2016-07-11Area: India  Language: English 
Subscribers Live Sub Count
27.55K 
Total Views
503.46K  0.1%
Average Video Views
1.75K  0.3%
Total Videos
61 
Related News
Global Rank
422,015th  (Top 5%)
Country/Area Rank
40,766th  (Top 18.5%)
NoxScore
  0.68 
Published Videos
0  (Recent Month)
Est. Partner Earning
$ 19.5  (Monthly)
Est. Potential Earnings
$ 2.88  (Each Video)
कलयुग से सत्युग Daily Subs & Views Data Comparison 
7 Days
30 Days
Subs
Views
Subs for the Last 7 Days: Subs-Compare to previous Last 7 Days:
कलयुग से सत्युग Subscribers History Data (Recent Year)
Daily
Total
कलयुग से सत्युग Subs MileStone
कलयुग से सत्युग Views History Data (Recent Year)
Daily
Total
कलयुग से सत्युग Future Projections (Next Year)
Estimated Audience Age & Gender 
Estimated Audience Geography 
Average interaction of the last 30 uploaded videos
  • Views/Subs
    4.67%
  • Likes/Views
    0.00%
  • Comments/Views
    0.00%
  • Dislikes/Views
    0.00%
Views Graph for the Last 30 Videos
Avg.Views1.29K
Most Viewed Video from कलयुग से सत्युग YouTube Channel
14.32K Views· 2018-11-17 Published Date· 0 Likes· 0 Comments

Follow us on facebook https://m.facebook.com/kalyugsesatyug9 Follow us on Twitter https://mobile.twitter.com/kalyugsesatyug Follow us on Google plus https://plus.google.com/+kalyugsesatyug दिन - किसी भी सिद्ध योग दिवस से या सोमवार से दिशा - पूर्व या उत्तर दिशा आसन - लाल रंग की बाजोट,आसन और वस्त्र धारण करने के दिप -दिप - अगर घी की हो तो दाये तरफ(right side),अगर तेल की हो तो बाये तरफ(left side) होनी चाहिए,वो दीया का मुख आपके तरफ होना चाहिए,अगर किसी कारण वश दिया बूत जाए तो फिर से दिप जला दें उर्वशी मंत्र का उच्चारण करते हुए और फिर मंत्र जाप शुरू करे दे माला से। सावधानिया मानसिक और शारारिक तौर पर पूर्ण ब्रह्मचर्य का पालन करें साधना काल तक। तामसिक भोजन का सेवन न करें। (मांस - मदिरा ) साधना काल में होने वाले अनुभूतियों को अपने तक ही सीमित रखें। साधना काल तक धूप जलता रहे इस बात पर विशेष ध्यान रखें। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर हमें संपर्क करें। ( अर्थात कुछ समझ में नहीं आ रहा हो तो ) साधना विधि ये साधना 28 दिन की हैं और प्रतिदिन 28 बार मंत्र जाप करें। सबसे पहले साधना की जगह को साफ़ कर ले सुबह ही में और सभी चीजों का प्रबंध कर ले और साधना के दौरान सभी चीजों को अपने साथ ही रखें,साधना आपको संध्या काल 7 बजे या ब्रह्म मुहूर्त 5 बजे से शुरु करें,सबसे पहले नित् कर्मों से पूर्ण होजाए, फिर नाहा ले फिर सीधे साधना के कक्ष में आजाए और सुंदर वस्त्र धारण करें और,फिर आसन में बैठ जाये और उसके बाद आम की चौकी पर वस्त्र बिछाए लाल रंग की और उसके ऊपर चांदी या कासे या स्टील का गिलास रखें उसमें जल भरकर उसके बाद दीपक और धूप जला लें ( दीपक के नीचे हल्दी मिश्रित अक्षत अर्थात चावल अवश्य रखें ) फिर अगर आपके गुरु है तो उनका ध्यान कर एक माला गुरु मंत्र जाप कर ले अगर ना हो तो इस्ट का धयान कर एक माला मंत्र जाप कर ले,फिर उसके बाद मंत्र जाप आरंभ करें,मंत्र जाप संपूर्ण होने के बाद ध्यान अवश्य करें 10 से 15 मिनट तक और 2 मिनट रुक कर के ही आसन त्यागे और आखिरी में क्षमा याचना अवश्य मांगे हाथ जोड़कर, गिलास में रखी हुई जल को आप पी ले 28 वे दिन आपको 29 बार मूल मंत्र का जाप करना है और उसी दिन उस जल को ग्रहण करना है और उसके बाद अपने पूरे शरीर को छूना है,इस प्रकार आपके शरीर पर कवच पूर्ण रूप से धारण हो जाएगा और आप कोई भी साथना उसके बाद आरंभ कर सकते हैं। जिन व्यक्तियों के गुरु नहीं है वह हाथ जोड़कर महादेव का ध्यान करते हुए जाप करेंगे 5 से 10 मिनट तक गुरुमंत्र - ॐ नमः शिवाय। [ 11 बार उच्चारण करें ] मूल मंत्र - मंत्र अति गोपनीय केवल उन्हीं साधक/साधिकाओं को दी जाएगी जो साधना क्षेत्र में उन्नति करना चाहते हैं।

Latest Videos from कलयुग से सत्युग YouTube Channel
NoxInfluencer Team

Hi there! Any question please leave us a message via facebook(recommended) and we'll get back to you soon. Have a nice day ^.^

Questioning via facebook
(recommended)